अब न गिरा पाएगा कोई झुमका बरेली का  
Reading Time: 2 minutes

नही रहीं साधना

 

मुंबईअब न गिरा पाएगा कोई झुमका बरेली का। वेटरन एक्ट्रेस साधना का 74 साल की उम्र में निधन हो गया है। मुंबई के हिंदुजा हॉस्पिटल में शुक्रवार को उन्होंने आखिरी सांस ली। 60-70 के बीच साधना फिल्म इंडस्ट्री की स्टाइल आइकॉन मानी जाती थीं। उन्होंने बॉलीवुड में बतौर एक्ट्रेस 1960 में आई डायरेक्टर आर के नायर की फिल्म ‘लव इन शिमला’ से कदम रखा था। फिल्म के सेट पर उन्हें डायरेक्टर से प्यार हुआ और फिर दोनों ने शादी कर ली। 1995 में अस्थमा के चलते आर के नायर की मौत हो गई थी।

sadhna died

साधना ने अपना करियर बतौर चाइल्ड एक्ट्रेस शुरू किया था और वे सबसे पहले राज कपूर की फिल्म ‘श्री 420’ के गीत ‘मुड़-मुड़के न देख मुड़-मुड़के’ में एक कोरस गर्ल के रूप में नजर आई थीं। ‘हम दोनों’ (1961), ‘एक मुसाफिर एक हसीना’ (1962), ‘असली नकली’ (1962), ‘वो कौन थी’ (1964), ‘मेरा साया’ (1966), ‘इंतकाम’ (1969), ‘एक फूल दो माली’ (1969), ‘आप आए बहार आए’ (1971), ‘गीता मेरा नाम’ (1972), ‘अमानत’ (1975) और ‘तुलसी’ (1985) जैसी फिल्मों में उन्होंने काम किया।

sadhna-2015_1451038549

वैसे, कभी अपनी खूबसूरती और हेयरस्टाइल के लिए पॉपुलर हुईं साधना के लुक में समय के साथ काफी बदलाव आए। ऊपर फोटो में आप देख ही सकते हैं कि 2015 तक साधना का लुक कितना बदल गया था। साधनाी हेयर स्टाइल की वजह से देश में कई युवतियों ने अपना हेयर स्टाइल को बदला। फऱंट हेय़र स्टाइल अाज तक साधना हेयरकट के नाम विख्यात है। एेसी अदाकारा एेसी सुंदरता को अकेलेपन ने निगल लिया। वो अकेले रहती थीं।

Recommend to friends
  • gplus
  • pinterest

About the Author

Leave a comment