राहुल को पप्पू कहने पर हुआ बवाल, कांग्रेस जिलाध्यक्ष हुए तलब
Reading Time: 2 minutes
एम4पीन्यूज|मेरठ.
राहुल को पप्पू कहने पर हुआ बवाल, कांग्रेस जिलाध्यक्ष हुए तलब। राहुल गांधी को वॉट्सऐप ग्रुप पर पप्पू बताने वाले मेरठ कांग्रेस के जिलाध्यक्ष विनय प्रधान को पार्टी ने सस्पेंड कर दिया है। पार्टी ने एक्शन तब लिया जब ये मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस के यूपी चीफ राज बब्बर ने प्रधान को दिल्ली तलब किया है। बता दें कि राहुल गांधी के ऑफिस ने मंगलवार को एक ट्वीट में बताया था कि वो नानी से मिलने के लिए इटली जा रहे हैं और कुछ दिन वहीं रहेंगे। मैसेज में सिर्फ पप्पू लफ्ज का इस्तेमाल…
– वॉटसऐप ग्रुप पर डाले गए प्रधान के मैसेज का विरोध हो रहा है, क्योंकि इससे पार्टी की किरकिरी हो रही है। कांग्रेस के स्टेट स्पोक्सपर्सन मनोज त्यागी ने कहा- “कोई भी हो, उसे पार्टी उपाध्यक्ष के बारे में इस तरह की बात करने और उनकी इमेज खराब करने का अधिकार नहीं है। मामले की जांच कराई जाएगी। अगर प्रधान जांच में दोषी पाए जाते हैं, तो पार्टी संगठन कार्रवाई करेगा।”
– दूसरी ओर, विनय प्रधान ने चुप्पी साध ली है। वो फिलहाल, इस पर कोई भी बयान देने से बच रहे हैं।
क्या था मैसेज में?
– विनय ने मैसेज में लिखा था, “राहुल गांधी, जिसे देश का एक हिस्सा पप्पू के नाम से भी जानता है, आज आप बताएं कि क्या पप्पू ने कभी महंगी गाड़ियों का शौक पाला? जबकि वह पाल सकता था। कभी अंबानी, अडानी और माल्या की पार्टी में शामिल हुआ, जबकि शामिल हो सकता था। पप्पू ने कभी शान-शौकत का प्रदर्शन किया? नहीं, लेकिन कर सकता था। पप्पू मंत्री और प्रधानमंत्री भी बन सकता था, पर बना? नहीं, जबकि मनमोहन सिंह उसको प्रधानमंत्री बनाने का इशारा कर चुके थे।”
– मैसेज में आगे लिखा है, “पप्पू से पूरे 10 साल अंबानी, अडानी मिलना चाहते रहे, 2004 से 2014 तक कांग्रेस की सरकार रही और पप्पू के इशारे पर सरकार के मंत्री उनका काम कर सकते थे, लेकिन पप्पू ने अडानी, अंबानी को 5 मिनट का भी समय नहीं दिया, क्योंकि वह पप्पू था। वह जानता था कि ये लोग सरकार से केवल बिजनेस करेंगे और गरीबों का खून चूसेंगे और जनता ने हमें इनसे मिलने के लिए बहुमत नहीं दिया है।”

Recommend to friends
  • gplus
  • pinterest

About the Author

news

Truth says it all

Leave a comment