सरकार का एक साल और ले लो सस्ते मकान
Reading Time: 2 minutes
M4PNews Chandigarh: 

सरकार का एक साल और ले लो सस्ते मकान, अब जबकि सरकार का एक साल ही बचा है तो सत्तासीन शिरोमणि अकाली दल ने पंजाब के बाशिंदों को सस्ते मकान का ख्वाब दिखाना चालू कर दिया है। 21 सितंबर 2015 को सस्ते मकानों की पॉलिसी (हाउसिंग फॉर ऑल) के बाद अब सरकार ने अढ़ाई महीने के भीतर स्टेट लेवल सैंक्शनिंग एंड मॉनीरिंग कमेटी का भी गठन कर दिया है। पंजाब के चीफ सेक्रेटरी इस कमेटी के अध्यक्ष होंगे।

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए मकान सहित सस्ते मकान की नोडल एजेंसी डिपार्टमेंट ऑफ हाउसिंग एंड अर्बन डवलपमेंट होगी। जेब के अनुकूल यानी एफोर्डेबल हाउसिंग को क्रेडिट लिंकड सब्सिडी के तहत मुहैया करवाया जाएगा। जिन लोगों की आमदन 3 लाख रुपए तक होगी, उन्हें ई.डब्ल्यू.एस. फ्लैट की सुविधा मिलेगी जबकि जिनकी कुल आमदन 3 से 6 लाख रुपए होगी, उन्हें एल.आई.जी. फ्लैट्स उपलब्ध करवाए जाएंगे। यह ग्राउंड फ्लोर सहित फ्लैट्स तीन मंजिला होंगे। यह लाभ उन्हीं आवेदकों को मिलेगा, जिनके पास पंजाब में पक्के मकान की सुविधा नहीं है। साथ ही उन्होंने पिछले 5 सालों में मकान निर्माण या रेनोवेशन के लिए सरकारी सहायता प्राप्त नहीं की है। इस बाबत आवेदक को संबंधित एजेंसी को हल्फनामा देना होगा।
इन फ्लैट्स के आवंटन में आरक्षण की सुविधा भी दी जाएगी। डिपार्टमेंट ऑफ हाउसिंग एंड अर्बन डवलपमेंट इसकी नोडल एजेंसी होगा। नोडल एजेंसी की तरफ से ही इन फ्लैट्स का डिजाइन तैयार किया जाएगा। साथ ही, फ्लैट्स के लिए बैंकों के लिए टाइअप का जिम्मा भी नोडल एजेंसी ही संभालेंगी ताकि लाभपात्रियों को सस्ती दरों पर आवासीय सुविधा के लिए कर्ज मिल सके।
आरक्षण में पारदर्शिता का जिम्मा स्टेट लेवल सैंग्शनिंग एंड मॉनीटरिंग कमेटी का होगा। साथ ही इन फ्लैट्स के लिए एग्जीक्यूटिव एजेंसी की कमेटी से मान्य होनी अनिवार्य होगी। यह फ्लैट्स कहां बनाएं जाएंगे, इसका निर्णय भी कमेटी द्वारा लिया जाएगा। इसके अलावा एफोर्डेबल हाउसिंग के लिए प्राइवेट डवलपर्स व बिल्डर्स की पार्टनर्शिप का विकल्प भी खुला रखा गया है। इसमें प्राइवेट बिल्डर व डवलपर को 250 मकानों के निर्माण में करीब 35 फीसदी एल.आई.जी व ई.डब्ल्यू.एस. फ्लैट्स को सुनिश्चित करना होगा।
ऐसा होगा एफोर्डेबल हाउसिंग प्लान
ई.डब्ल्यू.एस.
मकानों का साइज-30 वर्ग मीटर कारपेट एरिया
प्रति एकड़ में कुल मकान-150
कुल ग्राउंड कवरेज-50 फीसदी
एफ.ए.आर.-1:1.60
कुल मंजिला-ग्राउंड फ्लोर सहित तीन मंजिला
एक नर्सरी स्कूल-कम से कम 2000 वर्ग फीट कवर एरिया
क्रेच-कम से कम 2000 वर्ग फीट कवर एरिया
एल.आई.जी
मकानों का साइज-50 वर्ग मीटर कारपेट एरिया
प्रति एकड़ में कुल मकान-85
कुल ग्राउंड कवरेज-50 फीसदी
एफ.ए.आर.-1:1.60
कुल मंजिला-ग्राउंड फ्लोर सहित तीन मंजिला
एक नर्सरी स्कूल-कम से कम 2000 वर्ग फीट कवर एरिया
क्रेच-कम से कम 2000 वर्ग फीट कवर एरिया

Recommend to friends
  • gplus
  • pinterest

About the Author

Leave a comment