Reading Time: 2 minutes
एम4पीन्यूज।

दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) चुनावों में करारी हार के बाद आम आदमी पार्टी में इस्तीफों का दौर शुरू हो गया है। इस बीच पार्टी मुख्यमंत्री और पार्टी संयोजक अरविंद केजरीवाल ने अपने आवास पर दिल्ली के सभी विधायकों की बैठक बुलाई है।

जहां बुधवार को सबसे पहले चांदनी चौक से विधायक अल्का लांबा की पेशकश की और इसके बाद ही पार्टी के दिल्ली इकाई के संयोजक दिलीप पांडे ने इस्तीफा दे दिया था और वहीं गुरुवार सुबह ही अरविंद केजरीवाल के बेहद करीबी और पंजाब के प्रभारी रहे संजय सिंह, सहप्रभारी दुर्गेश पाठक ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उनके पास पंजाब चुनावों की जिम्मेदारी थी। उनके साथ ही दिल्ली प्रदेश के प्रभारी आशीष तलवार ने भी एमसीडी चुनाव में हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा दे दिया।

आप नेता संजय सिंह और दुर्गेश पाठक ने छोड़ा 'आप' का साथ

आप नेता संजय सिंह और दुर्गेश पाठक ने छोड़ा ‘आप’ का साथ

संजय सिंह ने गुरुवार सुबह ट्वीट कर कहा, ‘मैंने पंजाब के प्रभारी पद से अपना इस्तीफ़ा राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल को दे दिया है, दुर्गेश ने भी सह प्रभारी पद छोड़ दिया है|’ उधर, दुर्गेश पाठक ने ट्वीट कर अपने फैसले के बारे में बताया, ‘मैंने आप के पंजाब सह-प्रभारी के पद से इस्तीफा दे दिया है। देश को बेहतर बनाने के लिए मैं पार्टी कार्यकर्ता के तौर पर निरंतर कार्य करता रहूंगा।’

इससे पहले बुधवार को पार्टी के सांसद भगवंत मान ने हार का ठीकरा आलाकमान पर फोड़ते हुए अपना विरोध दर्ज कराया था। भगवंत मान ने कहा था कि रणनीतिक स्तर पर हम फेल हो रहे हैं| इसीलिए हमें हार का सामना करना पड़ रहा है। भगवंत मान ने पार्टी आलाकमान पर निशाना साधते हुए कहा कि चुनाव से पहले लिए गए कुछ फैसलों की वजह से चुनाव में उनको और आम आदमी पार्टी को बड़ा नुकसान पहुंचा। दरअसल यही वजह है कि पार्टी के अंदर से उठते इसी तरह के बगावती सुरों को देखते हुए संजय सिंह ने अपने पद से इस्तीफे की पेशकश की है।

Recommend to friends
  • gplus
  • pinterest

About the Author

Leave a comment