यहां पापा देते हैं बच्चों को जन्म
Reading Time: 2 minutes

-कुदरत ने इन्हें दिया है मातृत्व का तोहफा

एम4पीन्यूज,चंडीगढ़।
बेशक इंसानों में थॉमस बीटी ऐसे पहले शख्स हैं, जिन्हें ‘गर्भवती पुरुष’ होने का दर्जा प्राप्त है लेकिन कुदरत ने कुछ ऐसे जीव भी बनाए हैं, जिनमें पापा बच्चों को जन्म देते हैं।
एलीगेटर पाइपफिश
alligator-pipefish
एलीगेटर पाइपफिश में नर व मादा की पहचान काफी आसान है। नर आमतौर पर मादा से लंबाई में बड़े होते हैं। नर 7 इंच तक लंबे हो सकते हैं। वैसे तो कई जगह इनका प्रजनन काल गर्मियों में होता है लेकिन कई जगह वर्ष भर में यह कभी भी सहवास कर लेते हैं। सहवास की सहज प्रक्रिया के दौरान मादा से पैदा हुए करीब 60 से 200 अंडे को नर अपने पेट में बनी थैली के भीतर सहेज लेता है। नर के पेट में ही इन अंडों से बच्चे आकार लेते हैं व थैली से निकलकर पहली बार बाहरी दुनिया से रू-ब-रू होते हैं। हालांकि पानी में तैरते बच्चों के साथ नर व मादा का रिश्ता बराबरी का रहता है।
समुद्री घोड़ा यानी अश्वमीन, अंग्रेजी में ‘सी-हॉर्स’ 
sea-horse
नर व मादा अश्वमीन सहज प्रवृति में सहवास करते हैं लेकिन बच्चों को जन्म नर देता है। दरअसल, नर समुद्री घोड़े के सामने वाले हिस्से में प्राकृतिक तौर पर एक थैली बनी होती है। यह थैली आमतौर पर छह सेकेंड के लिए खुलती है। इसी दौरान सहवास कर रही मादा अपने करीब 2,000 अंडों को नर की थैली में डाल देती है, जिसके तुरंत बाद नर की यह थैली बंद हो जाती है। नर इन अंडों को 9 दिन से लेकर 45 दिन निषेचित करता है या यह प्रक्रिया तब तक चलती है, जब तक अंडों से बच्चे तैयार हो जाते हैं। इसके बाद नर बच्चों को अपने थैली से बाहर निकाल देते हैं। इसके साथ ही पापा का कर्तव्य भी पूरा हो जाता है और एक बार फिर नर घोड़ा प्रजनन प्रक्रिया का हिस्सा बन जाता है।
पाउच्ड फ्रॉग
pouched-frog
पाउच्ड फ्रॉग। इनका यह नाम ही शायद इसीलिए रखा है क्योंकि यह धानी प्राणी होते हैं। धानी यानी पाउच मतलब थैली। इन मेढ़कों के शरीर में मुड़ी हुई खाल से थैली बनी होती है। बरसात से पहले सहवास के दौरान मादा जमीन पर अंडे देती है लेकिन अंडे से तैयार हुए टेडपोल्स अपने पापा के शरीर में बनी थैली में विकसित होते हैं। विकास की प्रक्रिया पूरी करने के बाद यह अपने पापा की थैली से निकलकर बाय-बाय कह देते हैं।

Recommend to friends
  • gplus
  • pinterest

About the Author

Leave a comment