मीत मर्डर केस: नाभा जेल में रची थी हत्या की साजिश
Reading Time: 2 minutes
एम4पीन्यूज,पंचकूला|

बाउंसर अमित शर्मा उर्फ मीत को मारने की साजिश नाभा जेल में बनी। बाउंसर गगन जीत ने मीत को ठिकाने लगाने के लिए शार्पशूटर हायर किए जोकि जीरकपुर के हैं। पुलिस सूत्रों के मुताबिक जिन युवकों ने मीत को गोली मारी उनकी शिनाख्त लाड़ी और मनी (निक नेम) के तौर पर हुई है। एसएसपी मोहाली कुलदीप सिंह चाहल ने इस की पुष्टि की। चाहल ने कहा कि नाभा जेल से खरड़ प्रोडक्शन वारंट पर लाए गए गगनजीत ने पुलिस पूछताछ में ये बात मान ली है कि मीत का कत्ल कांट्रेक्ट देकर उसी ने करवाया है। वे इस मामले में मास्टर माइंड है। सूत्रों के मुताबिक इस कत्ल में एक तीसरा युवक ओर भी शामिल है जिस की शिनाख्त अभी नहीं हो पाई है। ध्यान रहे कि मीत की सोमवार को पंचकूला के महादेवपुरा स्थित सकेतड़ी मंदिर के पास आधा दर्जन गोलियां मार कर हत्या कर दी गई थी।

पंचकूला पुलिस को बुधवार को पंजाब पुलिस से मिली सूचनाओं पर पुलिस ने हत्या आरोपियों की तलाश में पंजाब, मोहाली और चंडीगढ़ में कई जगहों पर दबिश दी। पुलिस आरोपियों की कार के नंबर की तफ्तीश करने के लिए सारंगपुर फारेस्ट ऑफिस भी गयी और वहां लगे सीसीटीवी कैमरे चैक किए लेकिन पुलिस को वहां भी कामयाबी नहीं मिली।

पुलिस के अाधिकारिक सूत्रों ने बताया कि आरोपी गगन ने खुलासा किया कि विक्की गोंडर ग्रुप के साथ जेल में उसी ने मीत की हत्या की साजिश रची थी। इस साजिश में शार्पशूटर शामिल थे। खुलासे के बाद पुलिस लाडी समेत, मनी, सोनू शाह और सुरजीत के ठिकानों पर लगातार दबिश दे रही है। सूत्रों ने बताया कि दो दिन के रिमांड के दौरान गगन ने खुलासा किया है कि उसकी साजिश के तहत मीत की हत्या को अंजाम दिया गया। पंचकूला पुलिस भी बुधवार को रोपड़ में थी और गगन से हुई तफ्तीश के बाद लाडी के पंजाब, मोहाली और चंडीगढ़ में जानकारों के ठिकानों पर दबिश दी, परंतु आरोपी का सुराग नहीं मिल सका।

गगन को पंचकूला लाएगी पुलिस
अमित शर्मा की हत्या के पीछे गगन के साजिश रचने के खुलासे के बाद पुलिस उसे पंचकूला लाने की तैयारी कर रही है। डीसीपी अशोक कुमार ने बताया कि पुलिस मीत की हत्या में गगन के खुलासे पर उससे पूछताछ की जायेगी। उसे प्रोडक्शन वारंट पर लाने के लिए पुलिस कल जिला अदालत में अर्जी दाखिल करेगी। उससे यहां लाकर पूछताछ की जायेगी।

चंडीगढ़ के बाउंसरों को झटका
चंडीगढ़ के हैड बाउंसर अमित शर्मा की हत्या से शहर के बाउंसरों को गहरा धक्का लगा है। इसी शोक की लहर में बाउंसरों ने अमित शर्मा को श्रद्धांजलि स्वरूप एक दिन के लिए शहर के तमाम डिस्कोथेकों में काम बंद रखा। चंडीगढ़ में बाउंसरों की नियुक्ति भी उसी के जरिए होती थी।

Recommend to friends
  • gplus
  • pinterest

About the Author

news

Truth says it all

Leave a comment