अस्पताल की लापरवाही, किसी और का बच्चा अपना मान चले थे शमशान घाट
Reading Time: 1 minute

जिंदा बच्चे को बताया मुर्दा

एम4पीन्यूज, लखनऊ

लखनऊ के केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर अस्पताल में डॉक्टरों के द्वारा बड़ी लापरवाही देखने को मिली। किसी की खुशियों में ग्रहण लग गया, कर्मचारियों ने एक दंपति को जिंदा बच्चे के बदले मरा हुआ बच्चा थमा दिया। पुराना लखनऊ निवासी निजामुद्दीन और आलिया बानो का बच्चे के शव को देखकर रो- रोकर कर बुरा हाल हो गया। सदमे से मां बेहोश हो गई। उन्होंने बच्चे का शव लिया और घर चले गए।

परिजन शव लेकर कब्रिस्तान पहुंचे और बच्चे को दफनाने की तैयार में थे तभी वहां रेजिडेंट डॉक्टर पहुंच गए और शव को दफनाने से रोक दिया और उन्हें सूचना दी कि उनका बच्चा ट्रॉमा में जिंदा है और वे किसी और के बच्चे का शव लेकर आ गए हैं। यह सुन पहले तो किसी को विश्वास नहीं हुआ लेकिन फिर सभी के चेहरे पर मुस्कान आ गई।

दरअसल, ट्रॉमा सेंटर के एनआईसीयू में बेड नंबर एक पर मोनिका के बच्चे और बेड 14 पर आलिया के बच्चे का इलाज चल रहा था। सुबह मोनिका के बच्चे की मौत हो गई। अस्पताल के जूनियर डॉक्टर व कर्मचारियों ने मृत बच्च आलिया को सौंप दिया। निजामुद्दीन जब शव को दफनाने कब्रिस्तान में पहुंचे तो वहां पर एक डॉक्टर व एक अन्य कर्मचारी उनका इंतजार करते मिले। पता चला कि उनका बच्चा जिंदा है। निजामुद्दीन और आलिया इस घटना के बाद जबरन अपने बच्चे को डिस्चार्ज कराकर ले गए।

Recommend to friends
  • gplus
  • pinterest

About the Author

Leave a comment