नोट के लिए विदेशी तीर्थयात्री भी कर रहे हैं बैंकों के दर्शन
Reading Time: 1 minute

नोटबंदी पर विदेशी तीर्थयात्री भी परेशान

एम4पीन्यूज,चंडीगढ़

भारत में नोटबंदी से सिर्फ भारतीय ही परेशान नहीं हैं। बल्कि विदेशियों को नोटबंदी की परेशानी से रूबरू होना पड़ रहा है। विदेशीतीर्थ यात्रियों को भी नोटबंदी के चलते बैंकों की ओर से रुख करना पड़ा। बांग्लादेश से कुरुक्षेत्र आए तीर्थयात्रियों के पास चलने लायक नोट नहीं बचे। ऐसे में पूजा सामग्री तक खरीदने के लिए उन्हें परेशानी उठानी पड़ी। पासपोर्ट लेकर नोट बदलवाने के लिए 60 तीर्थ यात्री अपने बैंक पहुंचे। लेकिन इनमें से कुछ के नोट बदल गए और कुछ का नंबर आने तक कैश खत्म हो गया था। हालांकि कुछ देर इंतजार के बाद सभी के नोट बदल दिए गए।

ब्रह्मसरोवर और अन्य तीर्थ स्थलों के भ्रमण पर बांग्लादेश से 60 लोगों का जत्था कुरुक्षेत्र आया है। बताया जाता है कि इन तीर्थयात्रियों के पास शनिवार से खर्च करने लायक भी पैसा नहीं बचा था। दुकानदारों ने इन लोगों से 500 और एक हजार के नोट लेने से भी इनकार कर दिया था। ऐसे में इन लोगों को अपनी ज़रूरतें पूरी करने के लिए भी बैंकों का रुख करना पड़ा।

सभी आए नोट बदलवाने :
रेलवे रोड स्थित एचडीएफसी बैंक के बाहर दोपहर करीब साढ़े 12 बजे लंबी लाइन में बांग्लादेशी तीर्थयात्री भी लगे हुए थे। इनके साथ आए महिलाएं भी अपनी बारी के इंतजार में बैंक के बाहर बैठी रही। बताया जाता है कि इनमें से करीब 20 लोगों के नोट बदलने के बाद ही कैश खत्म होने की बात कही गई। इससे एक बारगी शेष लोगों में घबराहट भी रही। लेकिन बताया गया कि कुछ देर में फिर से कैश आ जाएगा। ऐसे में यह लोग लाइन में ही लगे रहे। दोपहर दो बजे तक इन सभी के नोट बदल दिए गए थे। इन तीर्थ यात्रियों को भी केवल चार-चार हजार रुपये ही बदलकर दिए गए।

Recommend to friends
  • gplus
  • pinterest

About the Author

Leave a comment