रेल हादसा: राहत-बचाव कार्य अभी भी जारी, मरने वालों की संख्या 140 के पार
Reading Time: 3 minutes

इंदौर-पटना एक्सप्रेस, सदमे में लोग

एम4पीन्यूज, चंडीगढ़

उत्तर प्रदेश में कानपुर में हादसे का शिकार हुई इंदौर-पटना एक्सप्रेस के 30 घंटे बीत जाने के बाद भी राहत काम पूरा नहीं हो पाया है। अब भी बोगियों से शव निकाले जा रहे हैं। इस भीषण हादसे में मरने वालों की संख्या अब तक 145 पहुंच गई है, जबकि 200 लोग जख्मी हैं, जिन्हें नजदीकी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।

आपको बता दें कि इंदौर से पटना जा रही इंदौर-राजेन्द्र नगर एक्सप्रेस रविवार को तड़के तीन बजे तब दुर्घटनाग्रस्त हो गई जब लोग गहरी नींद में थे। ये हादसा इतना भयानक था कि ट्रेन के 14 डिब्बे पटरी से उतरे गए। कई डिब्बे एक दूसरे पर चढ़ गए। उनके परखच्चे उड़ गए। इस हादसे में एसी के 5, स्लीपर के 6, जनरल के दो और लगैज के एक डब्बे को नुकसान पहुंचा है। सबसे ज्यादा नुकसान S-2 बोगी को हुआ है।

हर तरफ सदमा :
अब तक 145 शव मिले हैं। यूपी पुलिस, सेना और एनडीआरएफ के जवानों ने मिलकर राहत और बचाव के कार्य को अंजाम दिया। इस घटना के बाद राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और दूसरे बड़े नेताओं ने अफसोस जताया है।

स्पेशल ट्रेन पहुंची पटना :
इंदौर पटना एक्सप्रेस हादसे के बाद कल देर रात स्पेशल ट्रेन घायलों और बाकी दूसरे यात्रियों को लेकर पटना पहुंची। करीब साढ़े तीन सौ य़ात्री पटना जंक्शन पर स्पेशल ट्रेन के जरिए पहुंचे।

हादसे की जांच के आदेश :
रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने दुर्घटना की जांच के आदेश दिये हैं। प्रभु ने ट्वीट किया, ‘‘इस दुर्घटना के बाद राहत कार्य संचालित किए जा रहे हैं। मेडिकल और अन्य मदद पहुंचाई गई है। जांच के आदेश दिए गए हैं।’’

मृतकों के परिवार वालों और घायलों के लिए मुआवजे का ऐलान :
रेल मंत्रालय ने दुर्घटना में हताहत हुए लोगों के लिए मुआवजे का ऐलान किया है। मृतकों के परिजनों के लिए 3.5 लाख रुपये, गंभीर रूप से घायलों के लिए 50 हजार और साधारण रूप से घायलों के लिए 20 हजार रुपये मुआवजे का ऐलान किया है। इसके साथ ही पीएम राहत कोष से मृतकों के परिजनों को 2 लाख रुपये और गंभीर रुप ये घायलों को 50 हजार रुपये मुआवजे का ऐलान किया है।

उत्तर प्रदेश सरकार ने मृतकों को 5 लाख रुपये और गंभीर रूप से घायलों को 50 हजार रुपये मुआवजा देने का ऐलान किया। मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी मृतक के परिजनों को 2 लाख और गंभीर रूप से घायलों को 50,000 रुपये मुआवजे का ऐलान किया है।

रेलमंत्री ने दिए जांच के आदेश :
हादसे में स्लीपर के 6 और एसी के 3 कोच सबसे ज्यादा दुर्घटनाग्रस्त हुए हैं। खबरों के मुताबिक सबसे ज्यादा मौतें s 1 और s 3 कोच में हुईं हैं। रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने दुर्घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं। रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा दुर्घटना स्थल के रवाना हो चुके हैं। रेलवे ने हादसे की उच्च स्तरीय जांच के आदेश भी दे दिए हैं. इसके साथ ही रेलवे की तरफ से हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं।

रेलमंत्री ने दिए जांच के आदेश

रेलमंत्री ने दिए जांच के आदेश

प्रधानमंत्री मोदी ने घटना पर दुख जताया :
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी हादसे पर दुख जताया है। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा, ”पटना इंदौर एक्सप्रेस दुर्घटना में इतने लोगों की मृत्य दुखद है। मैंने रेलमंत्री सुरेश प्रभु से बात की है। वे खुद घटना पर नजर बनाए हुए हैं।”

प्रधानमंत्री मोदी ने घटना पर दुख जताया

प्रधानमंत्री मोदी ने घटना पर दुख जताया

इंदौर-राजेंद्र नगर (पटना) सप्ताह में दो बार चलनेवाली ट्रेन है। इसे दर्जा ‘एक्सप्रेस’ ट्रेन का मिला हुआ है, पर रुतबा रफ्तार सुपर फास्ट ट्रेन से कम नहीं है। 2002 के अप्रैल माह से पटना को मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी के रूप में मशहूर इंदौर से सीधे जोड़ने वाली इंदौर-पटना एक्सप्रेस में सुविधाओं की कमी है, पर सवारियों में वीआईपी पैसेंजरों की खासी तादाद है।

Recommend to friends
  • gplus
  • pinterest

About the Author

Leave a comment