प्रशांत भूषण का विवादित ट्वीट पर, बीजेपी प्रवक्ता ने दिया करारा जवाब
Reading Time: 2 minutes

-प्रशांत भूषण भगवान कृष्ण को बताया छेड़खानी करने वाला

एम4पीन्यूज|

मशहूर वकील प्रशांत भूषण ने उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू किए गए ऐंटी-रोमियो स्क्वॉड की आलोचना करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को खुली चुनौती दी है। भूषण ने एक ट्वीट कर शेक्सपियर के एक नाटक के पात्र रोमियो और भारत के पौराणिक किरदार श्रीकृष्ण की आपस में तुलना की। भूषण ने लिखा, ‘रोमियो ने अपने जीवन में केवल एक ही लड़की से प्यार किया, जबकि कृष्ण तो कई लड़कियों के साथ छेड़खानी करने के लिए प्रसिद्ध हैं। क्या मुख्यमंत्री आदित्यनाथ में इतनी हिम्मत है कि वह अपने मुस्तैद दस्ते का नाम ऐंटीकृष्ण स्क्वॉड रख सकें?’

प्रशांत भूषण का विवादित ट्वीट पर, बीजेपी प्रवक्ता ने दिया करारा जवाब

मालूम हो कि भूषण से पहले भी कई लोग इस स्क्वॉड का नाम ऐंटी-रोमियो रखने पर आपत्ति जता चुके हैं। आलोचकों का कहना है कि रोमियो शेक्सपियर के एक मशहूर नाटक का पात्र है और रोमियो-जूलियट की प्रेम कहानी अपने आपसी प्यार और समर्पण के लिए पूरी दुनिया में विख्यात है।

प्रशांत भूषण के इस ट्वीट के बाद बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने उनके सवाल का जवाब भी एक ट्वीट के जरिए ही दे डाला।

प्रशांत भूषण का विवादित ट्वीट पर, बीजेपी प्रवक्ता ने दिया करारा जवाब

संबित पात्रा ने प्रशांत भूषण के अंग्रेजी ट्वीट का जवाब हिंदी में देते हुए लिखा कि भगवान कृष्ण को समझने के लिए प्रशांत भूषण को कई जन्म लेने होंगे। उन्होंने प्रशांत भूषण के ट्वीट की निंदा करते हुए आगे लिखा कि वह कितनी आसानी से कृष्ण जी को राजनीति में घसीट लाए हैं। प्रशांत भूषण का एसा करना बहुत ही दुख की बात है।

 
मालूम हो कि UP में नई सरकार के गठन के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने चुनावी वादे पर अमल करते हुए महिलाओं के साथ छेड़खानी की घटनाओं को रोकने के लिए ऐंटी-रोमिया स्क्वॉड बनाने का ऐलान किया था। BJP ने प्रदेश चुनाव के समय इस मुद्दे को अपने चुनावी घोषणापत्र में काफी प्रमुखता से शामिल किया था। महिलाओं के साथ होने वाली छेड़छाड़ और उनके शोषण के अलावा इस स्क्वॉड का एक मकसद विवादित ‘लव जिहाद’ को रोकना भी है। पिछले दिनों ऐंटी-रोमियो स्क्वॉड काफी चर्चा में रहा है। इसके द्वारा लड़के-लड़कियों के साथ बदसलूकी और एकसाथ घूम रहे महिला-पुरुष के साथ बदतमीजी से पेश आने की कई घटनाएं सामने आई हैं।

लगातार हो रही इस तरह की घटनाओं के बाद राज्य सरकार ने इस स्क्वॉड को अमानवीय तरीकों का इस्तेमाल ना करने की हिदायत भी दी। उधर UP के बाद अब मध्य प्रदेश सरकार ने भी अपने यहां इसी से मिलता-जुलता ऐंटी-मजनू स्क्वॉड बनाने का ऐलान किया है।

 

Recommend to friends
  • gplus
  • pinterest

About the Author

Leave a comment