नए गांधी के कच्चे रंग, नया गांधी भी हुआ पसीने पसीने, अाज से पहले नोट नहीं छोड़ते थे रंग
Reading Time: 1 minute

दूसरी तरफ लग रही है स्याहियां

जल्द फेड हो जाएगा 2000 का नोट को नाम दिया टेक्नोलॉजी

एम4पीन्यूज, चंडीगढ़
नोटों की मार धाड़ में गांधी यानी दो हजार रुपए नोट पसीने पसीने होकर रंग छोड़ रहा है। अब इसे रंग छोड़ना कहें या रंग बदलना लेकिन इकोनोमिक अफेयर सेक्रेटरी शकि्तकांता दास ने कहा कि दो हजार रुपए के रंग छूटना उसकी बैध्यता का प्रमाण है। अब कोई इनसे पूछे कि ये कैसी प्रमाणता, जिसमें नोट के रंग छूट जाए या फिर इसे इनका एक बचाव भरा जवाब समझें।
पहले कोई नहीं छोड़ता था रंग, ये कैसी तकनीक
हाल ही में सोशल मीडिया में दो हजार रुपए के छूटते रंग को लेकर कईं वीडियो और तस्वीरें सामने आईं। जिसके बाद अाज इकोनोमिक अफेयर सेक्रेटरी शकि्तकांता दास ने बताया कि रंग छूटना नोट की एक तकनीक है।

इसके साथ ही दास ने कहा कि अब से जो भी पुराने नोट जमा कराने अाएगा उनके हाथ पर काली स्याही लगाई जाएगी ताकि वे दोबारा बैंक में पुराने रुपए जमा करवाने न सके। इससे लाइनों में लगे लोगों को कम मुशिकल पेश आए। हालांकि लोगों की इस पर प्रतिकि्रया जब ली गई तो उनमें काफी गुस्सा देखा गया।

Recommend to friends
  • gplus
  • pinterest

About the Author

Comments

  1. L R Gandhi
    November 15, 2016 at 10:16 pm

    modi ke raj mein gandhi’s to vaise hi badrang hue jaa rahe hain

Leave a comment