Reading Time: 4 minutes

-आर्कटिक सागर के ग्रीनलैंड में नार्वे द्वीप समूह है, स्वालबार्ड

एम4पीन्यूज
norway-land-of-midnight-sun1इस जगह के बारे में कहा जाता है कि यहां 20 अप्रैल से 23 अगस्त तक सूरज अस्त नहीं होता है। रात हो या दिन सूरज दिखता ही रहता है। यह प्राकृति की अद्भुत घटना है। इसी खासियत के चलते कई लेखकों ने नार्वे को द लैंड ऑफ मिड नाइट सन की संज्ञा दी है। इसपर कई किताबें भी लिखी गई हैं। वैसे तो नार्थ पोल और आर्कटिक सर्किल में कई जगहों पर साल में कई दिन 24 घंटे सूरज चमकता है लेकिन स्वालबर्ड द्वीप ऐसी जगह है, जहां लगातार 127 दिन तक सूरज दिखाई देता है और कभी अस्त नहीं होता। नार्वे के अलावा आईसलैंड में 65 दिन, कनाडा के कुछ हिस्सों में 50 दिन सूरज चमकता है जबकि स्वीडन व फिनलैंड में महज कुछ घंटों के लिए सूर्यास्त होता है।
internal-flame-fallयहां पानी में जलती है आग
न्यूयार्क के ऑर्चेड पार्क में इंटरनल फ्लेम फॉल्स है। यहां पर जो झरना बहता है, जिसमें एक आग जलती रहती है। आग की यह लौ दूर से ही दिखाई देती है। शोध करने के बाद वैज्ञानिकों को पता चला कि वहां पर चट्टानों के नीचे से मीथैन गैस निकलती है। संभव है कि 20वीं शताब्दी की शुरुआत में किसी ने इस मीथैन गैस में आग लगा दी, जिसके बाद से यह लगातार जल रही है।
death-vally-stone
यहां खुद-ब-खुद खिसकते हैं पत्थर
कैलीफोर्निया की डैथ वैली में कुछ पत्थरों का खुद-ब-खुद खिसकना नासा के लिए भी अबूझ पहेली बनी हुई है। रेस्ट्रैक प्लाया जगह 2.5 मील उत्तर से दक्षिण और 1.25 मील पूरब से पश्चिम तक बिल्कुल सपाट है लेकिन यहां बिखरे पत्थर खुद-ब-खुद खिसकते रहते हैं। सर्दियों में यह पत्थर 250 मीटर से ज्यादा दूर तक खिसके मिलते हैं। वैज्ञानिकों का मानना है कि तेज रफ्तार से चलने वाली हवाओं के कारण ऐसा होता है।
meoraki-stone12-12 फीट के पत्थर, समन्द्र के किनारे अद्भुत अहसास 
साउथ आइलैंड न्यूजीलैंड के ईस्ट कोस्ट में स्थित ‘कोई-कोहे’ बीच पर 12-12 फीट के मोराकी पत्थरों का ढेर किसी अजूबे से कम नहीं है। यह पत्थर दिखने में सीप और मोती की तरह हैं। पत्थरनुमा संरचना का निर्माण लाखों सालों में किसी जीवाश्म या ठोस चीज के चारों और समुद्री रेत के जमने से हुआ है। ऐसी संरचनाएं विश्व में कई जगह पाई जाती है पर यहां पर यह संरचना सबसे बड़े आकार में पाई जाती है।
turkey-pamukkale
गर्म पानी के प्राकृतिक स्वीमिंग पूल
तुर्की के पमुक्कले में 17 प्राकृतिक हॉट स्ंिप्रग्स हैं। यह प्राकृर्तिक गर्म पानी के झरने यहां से हजारों सालों से हैं। इन झरनों के पानी में स्थित खजिनों के बाहरी हवा के संपर्क में आने से कैल्शियम कार्बोनेट बनता है, जोकि हजारों सालों से इन झरनों के किनारों पर जमा हो रहा है। जिससे इन झरनों ने स्विमिंग पूल जैसा आकार ले लिया है। इन हॉट स्ंिप्रग्स में पानी का तापमान 37 डिग्री से 100 डिग्री के बीच रहता है। चूंकि इस तरह का प्राकृर्तिक गर्म पानी में नहाना हमारे शरीर खासकर त्वचा के लिए विशेष फायदेमंद रहता है।
yellowstone
गीजर में होता है विस्फोट
येलोस्टोन नेशनल पार्क में दुनिया के सबसे ज्यादा प्राकृर्तिक गीजर मिलते हैं। प्राकृर्तिक गीजर एक तरह के गर्म पानी का फव्वारा होता है, जिसमें पानी जमीन के अंदर से एक फाउंटेन की शक्ल में निकलता है। इस पार्क में करीब 300 प्राकृर्तिक गीजर हैं। इसमें नियमित रूप से विस्फोट होता रहा है लेकिन इनमें होने वाले विस्फोटों का मिजाज आज तक भूगर्भशास्त्रियों के लिए भी पहेली बना हुआ है।
maracaibo-lakeयहां लगातार 250 बार चमकती है बिजली
वेनेजुएला के पश्चिम दक्षिण क्षेत्र के किनारे माराकैबो लेक है। इस झील के कोने में पहाड़ी के ऊपर दुनिया की सबसे तेज आवृत्ति से बिजली चमकती है। यहां पर प्रति वर्ग किलोमीटर में हर साल 250 बार बिजली चमकने का रिकॉर्ड है।

Recommend to friends
  • gplus
  • pinterest

About the Author

Leave a comment