पटना नाव हादसा: लापरवाही ने ली 23 लोगों की जान, PM ने किया मुआवजे का ऐलान
Reading Time: 2 minutes

-पटना नाव हादसा: लापरवाही का जिम्मेदार कौन?

एम4पीन्यूज।  

पटना के सबलपुर गंगा दियारा में मकर संक्रांति के अवसर पर आयोजित पतंगबाजी में हिस्सा लेने गए लोग हादसे के शिकार हो गए. लोग उत्सव में शामिल होकर NDRF की नाव से वापस लौट रहे थे, तभी नाव गंगा में पलट गई. हादसे में 24 लोगों की मौत हो गई. कई लोग अब भी लापता बताए जाते हैं. राहत और बचाव में NDRF की 3 टीमें और SDRF की टीमें लगाई गई हैं. रेस्क्यू ऑपरेशन अभी भी जारी है.

पटना नाव हादसा: लापरवाही ने ली 23 लोगों की जान, PM ने किया मुआवजे का ऐलान

पटना नाव हादसा: लापरवाही ने ली 23 लोगों की जान, PM ने किया मुआवजे का ऐलान

नीतीश ने दिए जांच के आदेश
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हादसे की जांच के आदेश दिए हैं. साथ ही मुख्यमंत्री ने गंगा के दियारे में होने वाले सभी कार्यक्रमों को रद्द करने का आदेश दिया है. इस हादसे में मारे गए लोगों के परिवार वालों को 4-4 लाख रुपये मुआवजा देने का ऐलान किया गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे पर दुख जाहिर करते हुए पीड़ित परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है. प्रधानमंत्री ने भी प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष में से मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये और गंभीर रूप से घायलों को 50 हजार देने की घोषणा की है.

 

कई लोग अब भी हैं लापता
बताया जा रहा है कि नाव पर 40 से ज्यादा लोग सवार थे. NDRF की टीम ने रेस्क्यू कर कुछ लोगों को बाहर निकाला है, जिन्हें एंबुलेंस के जरिये PMCH भेजा गया है. अस्पताल में अपनों की तलाश में लोगों की भीड़ लगी हुई है.

इस बीच पटना में नाव हादसे के बाद रविवार को होने वाला गांधी सेतु जीर्णोद्धार कार्यक्रम को स्थगित कर दिया गया है. नीतीश कुमार ने नितिन गडकरी से फोन कर कार्यक्रम को स्थगित करने का अनुरोध किया था.

 

विपक्ष ने लगाया कुप्रबंधन का आरोप
इस हादसे को लेकर विपक्ष ने सरकार को दोषी ठहराते हुए कुप्रबंधन का आरोप लगाया है, बीजेपी नेता प्रेम कुमार ने कहा कि लोगों के लाने-ले जाने के लिए प्रशासन से समुचित प्रबंध नहीं किए थे. यही वजह है कि एक ही नाव पर ज्यादा लोग सवार हुए और ये हादसा हुआ. प्रेम कुमार ने नीतीश कुमार से रविवार को होने वाला दही-चूड़ा कार्यक्रम रद्द करने की मांग की है.

स्थानीय लोग भी प्रशासन की ओर से पतंगोत्सव में शामिल होने गए लोगों को वापस लाने के लिए कोई खास इंतजाम नहीं होने की बात कह रहे हैं. इस वजह से लोगों में लौटते वक्त नावों पर चढ़ने को लेकर अफरा-तफरी मची रही. लोगों की मानें तो नाव पर ज्यादा लोग सवार होने से ये हादसा हुआ.

जिन-जिन परिवारों के लोग नाव से पतंगोत्सव में शामिल होने गए थे अब वो हादसे की खबर मिलते ही अपनों की तलाश में अस्पताल पहुंच रहे हैं. पटना के जिलाधिकारी संजय कुमार अग्रवाल खुद घटनास्थल पर पहुंच कर राहत और बचाव के काम को देख रहे हैं. रात होने की वजह से बचाव कार्य में दिक्कतें आ रही हैं.

Recommend to friends
  • gplus
  • pinterest

About the Author

Leave a comment